Top 43+ Guroor Shayari in Hindi | गुरूर शायरी 2024

Guroor Shayari in Hindi

Guroor Shayari in Hindi – दोस्तों, हर किसी के जीवन में कहीं न कहीं ग़ुरूर या अभिमान शामिल होता है। इस ग़ुरूर को हमने कई रूपों में शायरी के ज़रिए व्यक्त किया है।

अगर आप भी इंटरनेट पर हिंदी में Guroor Shayari in Hindi की तलाश कर रहे हैं, तो आप सही पोस्ट पर हैं। आप इन शायरियों को अपने सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं। Guroor Shayari in Hindi आपके जीवन को नए दृष्टिकोण से देखने का एक अनोखा तरीका हो सकता है, जिससे आप अपनी भावनाओं को व्यक्त कर सकते हैं और दूसरों को भी प्रेरित कर सकते हैं।

इस ग़ुरूर भरी शायरी संग्रह में, ग़ुरूर की रूपरेखा को समझने के लिए एक रोमैंटिक और भावनात्मक यात्रा पर निकलें और इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें। Guroor Shayari in Hindi का आनंद लें और इसे अपने जीवन के साथी बनाएं। ग़ुरूर की भाषा में खो जाएं और इस संग्रह में छुपी रंगीनियों को अन्वेषित करें, जो आपके जीवन को और भी रोचक बना सकती हैं।

Guroor Shayari

Guroor Shayari

जरूरत तोड़ देती हैं इंसान के घमंड को,
अगर न होती मजबूरी तो हर बंदा खुदा होता !

Zarurat tod deti hai insaan ke ghamand ko,
Agar na hoti majboori to har banda Khuda hota!

गुरूर का भार इतना भारी होता है की,
इंसान उसे उठाते-उठाते,
दूसरों की नजरों से ही गिर जाता है !

Gurur ka bhaar itna bhaari hota hai ki,
Insaan use uthaate-uthaate,
Doosron ki nazron se hi gir jaata hai!

गुरुर नहीं है मुझमें हाँ मगर,
जिद्दी मैं कमाल का हूँ !

Gurur nahi hai mujhmein, haan magar,
Ziddi main kamal ka hoon!

Guroor Shayari in Hindi

Guroor Shayari in Hindi

घमंड जब घुसा इंसान के शरीर में,
इंसान झुकने की कोशिश भी खड़े-खड़े करने लगा !

Ghamand jab ghusa insaan ke shareer mein,
Insaan jhukne ki koshish bhi khade-khade karne laga!

चेहरे पर हंसी छा जाती है आँखों में सुरूर,
आ जाता है जब तुम मुझे अपना कहते हो,
मुझे खुद पर गुरुर आ जाता है !

Chehre par hansi chha jaati hai aankhon mein suroor,
Aa jaata hai jab tum mujhe apna kehte ho,
Mujhe khud par gurur aa jaata hai!

बादशाह तो वक्त होता हैं,
इंसान तो यूँ ही गुरुर करता है !

Badshah to waqt hota hai,
Insaan to yun hi gurur karta hai!

Guroor Shayari in Hindi 2 Lines

Guroor Shayari in Hindi 2 Lines

आज इंसानियत का रंग इतना बेरंग क्यूँ है,
हर शख्स को खुद पर इतना गुरूर क्यूँ है !

Aaj insaaniyat ka rang itna berang kyun hai,
Har shakhs ko khud par itna gurur kyun hai!

हो सके तो दिल में रहना सिखो,
गुरूर में तो हर कोई रहता है !

Ho sake to dil mein rehna seekho,
Gurur mein to har koi rehta hai!

Ghamand Aur Guroor Shayari

Ghamand Aur Guroor Shayari

चलो रहने देते है मुलाकातों के सिलसिले,
मै अपने सुरूर में खुश तुम अपने गुरुर में !

Chalo rehne dete hain mulaqaton ke silsile,
Main apne surur mein khush, tum apne gurur mein!

तेरे गुरूर को देखकर तेरी तमन्ना छोड़ दी हमने,
जरा हम भी देखे कौन चाहता है तुम्हे हमसे जयादा !

Tere gurur ko dekhkar teri tamanna chhod di humne,
Jara hum bhi dekhe kaun chaahta hai tujhe humse zyada!

Mat Kar Itna Guroor Shayari

Mat Kar Itna Guroor Shayari

रूबरू होने की तो छोड़िये,
लोग गुफ्तगू से भी कतराने लगे हैं,
गुरूर ओढ़े हैं रिश्ते,
अपनी हैसियत पर इतराने लगे हैं !

Roobaroo hone ki to chhodiye,
Log guftagu se bhi katraane lage hain,
Gurur odhe hain rishte,
Apni haisiyat par itraane lage hain!

हमें लगा रूठे हो तुम तभी हमसे झगड़े हो तुम,
सोचा लौट कर आओगे पर बेहद घमंडी हो तुम !

Humein laga roothe ho tum tabhi humse jhagde ho tum,
Socha laut kar aaoge par behad ghamandi ho tum!

Paise Ka Guroor Shayari

Paise Ka Guroor Shayari

तेरी अकड़ दो दिन की कहानी हैं,
मेरा गुरूर तो खानदानी है !

Teri akad do din ki kahani hai,
Mera gurur to khandaani hai!

कोशिश यही रहती है,
हमसे कभी कोई रूठे ना,
मगर नजरअंदाज करने वालों को,
पलट कर हम भी नहीं देखते !

Koshish yahi rehti hai,
Hamse kabhi koi roothe na,
Magar nazaraandaaz karne waalon ko,
Palat kar hum bhi nahi dekhte!

गुरूर शायरी

गुरूर शायरी

जो लोग अपनी गलती खुद नहीं मानते हैं,
उन्हें वक्त अपनी गलती मनवा लेता है !

Jo log apni galti khud nahi maante hain,
Unhein waqt apni galti manva leta hai!

अगर तुझको गुरूर है सत्ता का इस कदर तो,
हम भी तख्तों को पलटने का हुनर रखते हैं !

Agar tujhko gurur hai satta ka is kadar to,
Hum bhi takhton ko palatne ka hunar rakhte hain!

तेरा लहजा याद रखने को,
मैं चाय भी कड़वी पीता हूँ !

Tera lehja yaad rakhne ko,
Main chai bhi kadvi peeta hoon!

गुरूर शायरी इन हिंदी

गुरूर शायरी इन हिंदी

हौसलों को हमेशा हवा में रखना,
पर कुछ हासिल करने के बाद,
हवा में मत उड़ने लगना !

Hauslon ko hamesha hawa mein rakhna,
Par kuch haasil karne ke baad,
Hawa mein mat udne lagna!

तोड़ेंगे गुरुर इश्क का,
और इस कदर सुधर जायेंगे,
खड़ी रहेगी मोहब्बत बीच रास्ते में,
और हम सामने से गुजर जायेंगे !

Todenge gurur ishq ka,
Aur is kadar sudhar jaayenge,
Khadi rahegi mohabbat beech raaste mein,
Aur hum saamne se guzar jaayenge!

क्यूँ ना गुरूर करता में अपने आप पे,
मुझे उस ने चाहा जिस के चाहने वाले हजारों थे !

Kyun na gurur karta main apne aap pe,
Mujhe usne chaha jis ke chahne waale hazaaron the!

Related Shayari

दोस्तों, आपको यह Guroor Shayari in Hindi पोस्ट कैसी लगी? अगर आपको पसंद आई, तो आप हमें नीचे टिप्पणी बॉक्स में अपने विचार जरूर बता सकते हैं। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो, तो कृपया इसे साझा करें। 

Guroor Shayari in Hindi के इस मनोहर और रंगीन संग्रह ने आपको नए और भावनात्मक दृष्टिकोण से जीवन को देखने का एक अनूठा अनुभव कराया है। इसमें छुपी अद्वितीयता और शैली ने आपके दिल को छू लिया होगा। गुरूर की भाषा में लिखी गई यह शायरी संग्रह आपके मन में नए सवारियों को पैदा करेगा और आपकी भावनाओं की गहराईयों में ले जाएगा। 

इसे पढ़कर आप ग़ुरूर की भाषा में रंगी हुई शायरी के साथ जुड़ सकते हैं और इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करके उन्हें भी इस अनूठे साहित्य का आनंद लेने का अवसर दे सकते हैं। आपके सकारात्मक प्रतिक्रिया का हमें बहुत इंतजार रहेगा, धन्यवाद।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *