Top 45+ Garibi Shayari in Hindi | गरीबी पर शायरी

Garibi Shayari in Hindi

Garibi Shayari in Hindi एक ऐसा विषय है जो हमारे समाज में गहरे रूप से उपस्थित है। यह विषय हमारे जीवन के अभिन्न हिस्से को छूता है और हमें उस वास्तविकता का सामना कराता है जो अक्सर हम सब अनदेखा कर देते हैं। गरीबी पर शायरी का अध्ययन करके हम गरीबी के साथ और भी करीबी से जुड़ सकते हैं। 

यह शायरी हमें उस अनदेखी और अनुभव से परिचित कराती है जो हमें हमारी समाज में गरीबी के कारण और परिणामों के बारे में सोचने पर मजबूर करती है। इसलिए, Garibi Shayari in Hindi का अध्ययन करना एक संवेदनशील और सामाजिक दायरे में हमारी समझ और सहयोग को बढ़ावा देने का सशक्त माध्यम है।

Garibi Shayari

Garibi Shayari

छीन लेता है हर चीज मुझसे ऐ खुदा,
क्या तू मुझसे भी ज्यादा गरीब है !

Chheen leta hai har cheej mujhse ai Khuda,
Kya tu mujhse bhi zyada gareeb hai!

अमीरी का हिसाब तो दिल देख के किजिए साहब,
वर्ना गरीबी तो कपडों से ही झलक जाती है !

Amiri ka hisaab to dil dekh ke kijiye sahab,
Varna gareebi to kapdon se hi jhalak jaati hai!

Garibi Shayari images

किस्मत को खराब बोलने वालों,
कभी किसी गरीब के पास बैठकर,
पूछना जिंदगी क्या है !

Kismat ko kharab bolne walon,
Kabhi kisi gareeb ke paas baithkar,
Poochna zindagi kya hai!

ऐ सियासत तूने भी इस दौर में कमाल कर दिया,
गरीबों को गरीब अमीरों को माला-माल कर दिया !

Ai siyasat tune bhi is daur mein kamal kar diya,
Gareebon ko gareeb amiron ko mala-maal kar diya!

Garibi Shayari in Hindi

Garibi Shayari in Hindi

मैं क्या मुहब्बत करू किसी से,
मै तो गरीब हूँ
लोग अक्सर बिकते हैं और,
खरीदना मेरे बस में नहीं !

Main kya muhabbat karu kisi se,
Main to gareeb hoon
Log aksar bikte hain aur,
Kharidna mere bas mein nahin!

दिल को बड़ा सुकून आता है,
किसी गरीब की सहायता करने,
पर जब वह मुस्कुराता है !

Dil ko bada sukoon aata hai,
Kisi gareeb ki sahayata karne,
Par jab voh muskurata hai!

Garibi Shayari in Hindi pics

बड़ी बेशरम होती है ये गरीबी,
कमबख्त उम्र का भी,
लिहाज नहीं करती !

Badi besharm hoti hai ye gareebi,
Kambakht umr ka bhi,
Lihaz nahin karti!

आज तक बस एक ही बात समझ नहीं आती,
जो लोग गरीबों के हक के लिए लड़ते हैं,
वो कुछ वक्त के बाद अमीर कैसे बन जाते हैं !

Aaj tak bas ek hi baat samajh nahin aati,
Jo log gareebon ke haq ke liye ladte hain,
Voh kuch waqt ke baad ameer kaise ban jaate hain!

Garibi Shayari in Hindi 2 Line

Garibi Shayari in Hindi 2 Line

जरा सी आहट पर जाग जाता है वो रातो को,
ऐ खुदा गरीब को बेटी दे तो दरवाजा भी दे !

Jara si aahat par jaag jaata hai vo raaton ko,
Ai Khuda gareeb ko beti de to darwaza bhi de!

शाम को थक कर टूटे झोपड़े में सो जाता है,
वो मजदूर जो शहर में ऊँची इमारते बनाता है !

Shaam ko thak kar toote jhopde mein so jaata hai,
Vo majdoor jo shehar mein unchi imarat banata hai!

गरीबों के बच्चे भी खाना खा सके त्योहारों में,
तभी तो भगवान खुद बिक जाते हैं बाजारों में !

Gareebon ke bachche bhi khana kha sake tyoharon mein,
Tabhi to Bhagwan khud bik jaate hain bazaaron mein!

Garibi Shayari in Hindi English

Garibi Shayari in Hindi English

अजीब मिठास है मुझ गरीब के खून में भी,
जिसे भी मौका मिलता है वो पीता जरुर है !

Ajeeb mithaas hai mujh gareeb ke khoon mein bhi,
Jise bhi mauka milta hai voh peeta zaroor hai!

मरहम लगा सको तो किसी गरीब के जख्मों पर लगा देना,
हकीम बहुत हैं बाजार में अमीरो के इलाज के खातिर !

Marham laga sake to kisi gareeb ke zakhmon par laga dena,
Hakeem bahut hain bazaar mein ameero ke ilaaj ke khaatir!

सुक्र है की मौत सबको आती है,
वरना अमीर इस बात का भी,
मजाक उड़ाते कि गरीब था
इसलिए मर गया !

Sukr hai ki maut sabko aati hai,
Varna ameer is baat ka bhi,
Mazaak udaate ki gareeb tha
Isliye mar gaya!

Garibi Ki Shayari in Hindi

Garibi Ki Shayari in Hindi

सबसे बड़ा गरीब वो है,
जो रूपये होते हुए भी,
किसी की मदद ना करे !

Sabse bada gareeb wo hai,
Jo rupaye hote hue bhi,
Kisi ki madad na kare!

अपने मेहमान को पलकों पे बिठा लेती है,
गरीबी जानती है घर में बिछौने कम हैं !

Apne mehmaan ko palakon pe bitha leti hai,
Gareebi jaanti hai ghar mein bichhane kam hain!

खुदा के दिल को भी सुकून आता होगा,
जब कोई गरीब चेहरा मुस्कुराता होगा !

Khuda ke dil ko bhi sukoon aata hoga,
Jab koi gareeb chehra muskurata hoga!

Garibi Par Shayari in Hindi

Garibi Par Shayari in Hindi

बहुत अमीर है उसका नया दोस्त,
उसने मेरी मोहब्बत भी खरीद ली !

Bahut ameer hai uska naya dost,
Usne meri mohabbat bhi kharid li!

मुफ्त में तो बस गरीबी आती है,
बाकी सब तो रईसी,
से खरीदी जा सकती है !

Muft mein to bas gareebi aati hai,
Baaki sab to raeesi,
Se khareedi ja sakti hai!

हजारों दोस्त बन जाते हैं जब पैसा पास होता है,
टूट जाता है गरीबी में जो रिश्ता खास होता है !

Hazaaron dost ban jaate hain jab paisa paas hota hai,
Toot jaata hai gareebi mein jo rishta khaas hota hai!

Shayari in Hindi on Garibi

Shayari in Hindi on Garibi

साथ सभी ने छोड़ दिया,
लेकिन ऐ-गरीबी,
तू इतनी वफादार कैसे निकली !

Saath sabhi ne chhod diya,
Lekin ai-gareebi,
Tu itni wafaadaar kaise nikli!

गरीबी मिटाने का हैं बस एक ही तरीका,
पढ़ाई करो और बदलो अपना सलीका !

Gareebi mitaane ka hai bas ek hi tareeka,
Padhai karo aur badlo apna saliqa!

किसी गरीब को देखकर मुह मत,
फेरना साहब क्योकि उसे भी उसी ने,
बनाया है जिसने आपको अमीर बनाया है !

Kisi gareeb ko dekhkar muh mat,
Pherna saahab kyonki use bhi use ne,
Banaya hai jisne aapko ameer banaya hai!

गरीबी पर शायरी

गरीबी पर शायरी

तहजीब की मिसाल गरीबों के घर पे है,
दुपट्टा फटा हुआ है मगर उनके सर पे है !

Tahzeeb ki misaal gareebon ke ghar pe hai,
Dupatta fata hua hai magar unke sar pe hai!

खुले आकाश के नीचे,
भी अच्छी नींद पा लेते है,
गरीब थोड़ी सब्जी में,
भी चार रोटी खा लेते हैं !

Khule aakash ke neeche,
Bhi achhi neend pa lete hain,
Gareeb thodi sabzi mein,
Bhi chaar roti kha lete hain!

परिस्थिति है ये मेरी विचार नहीं,
गरीब जरूर हूँ मैं साहब लाचार नहीं !

Paristhiti hai ye meri vichar nahin,
Gareeb zaroor hoon main saahab laachar nahin!

इस लेख के माध्यम से हमने Garibi Shayari in Hindi के महत्व को समझा है और उसके माध्यम से समाज में गरीबी की अनुभूति को साझा किया है। यह शायरी हमें न केवल गहरे अनुभवों का सामना कराती है, बल्कि हमें सामाजिक जागरूकता और संवेदनशीलता की दिशा में भी एक महत्वपूर्ण पाठ सिखाती है। 

इसलिए, हमें गरीबी के मुद्दे पर बातचीत को बढ़ावा देना और Garibi Shayari in Hindi को एक माध्यम के रूप में उपयोग करके सामाजिक परिवर्तन में योगदान करना चाहिए। यही हमारा उत्तरदायित्व है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *